परिचय

Sunday, 7 October, 2007

ना लायक हॆ.

हमने उनसे पूछा-
आपका बेटा-बेकूफ हॆ?
वो बोले-
’ना लायक’ हॆ.

आत्मनिर्भरता
==========
वो-
पहले-पडे थे
अब-
खडे हॆं
चलो-
आत्मनिर्भरता की ओर
कुछ तो बढे हॆं.
**********

1 comment:

rajivtaneja said...

बहुत खूब....लिखते रहें...

कलम घिसते रहें...

सॉरी कीबोर्ड के ज़माने में कलम-दवात कहाँ से आ
गई?