परिचय

Thursday 31 May 2007

भिखारी

चुनाव के मॊसम में
एक भिखारी
मेरे दरवाजे पर आता हॆ
भविष्य के-
सुनहरे स्वप्न दिखाकर
लूट ले जाता हॆ.
*********

1 comment:

परमजीत बाली said...

बहुत बढिया लिखा है।बधाई।